अच्छी नींद के लाभ – अच्छी नींद कैसे प्राप्त करें

अच्छी नींद के लाभ – अच्छी नींद कैसे प्राप्त करें

आजकल के व्यस्त दिनचर्या के कार्यक्रम एवं भाग – दौड़ के कारण अक्सर नींद ना एक आम बात हो गयी हैं | हममें से अधिकांश लोग इस बात पर ध्यान नहीं देते | पर इससे हमारा ही नुक्सान हैं | वैसे देखा जाएँ तो इसकी वजह भी हम ही  हैं | हम अपने काम एवं जिम्मेदारियों में इतनी खो गए हैं कि हम अपने जीवन की सबसे अमूल्य वस्तु अपने स्वास्थ्य को ही भुल गए हैं | एक अच्छी नींद हमारे शरीर के कई रोगों को दूर करती हैं या रोगों को हमारे पास फटकने भी नहीं देती हैं | आइए हम सबसे पहले नींद न आने के कारणों को देखते हैं , फिर उसके दुष्प्रभाव एवं उसके बाद अच्छी नींद के उपाय को देखते हैं |

अच्छी नींद न आने के कारण

  • अगर हम नींद न आने के कारणों में गिने तो मेरे हिसाब से मोबाइल , कम्प्यूटर , लैपटाँप , टी० वी० , कम्प्यूटर गेम आदि का हमारे द्वारा अत्यधिक प्रयोग हमारी आँखों के साथ हमारे नींद को भी बिगाड़ रहा हैं |
  • दूसरी वस्तु यदि कोई हैं तो तनाव या थकान को कम करने के नाम पर हमारे द्वारा अत्यधिक मात्रा में पिया जाने वाला चाय या काफी हैं , जिसमें उपस्थित कैफीन हमारे तंत्रिका तंत्र ( Nervous System ) को बिगाड़ रहा हैं |
  • तीसरा कारण हैं पर्यावरण प्रदूषण , तेज आवाज में बजने वाले म्यूजिक सिस्टम , डी० जे० , ईअर प्लग ( हेड फोन ) हैं , जो हमारे मस्तिष्क को प्रभावित कर रहे हैं |
  • काम का अत्यधिक बोझ भी नींद न आने के कारणों में से एक हैं |

अच्छी नींद

  • आजकल शहरों में देर रात तक जागना एवं शापिंग माल में शापिंग करना एक आम बात हैं , पर यह रूटीन हमारे शरीर के  बायोलाजिअकल क्लाक को बिगाड़ रही हैं |
  • हमारे बेड पर आरामदायक एवं काफी मुलायम गद्दों का होना अच्छी बात हैं , पर मैट्रेस या विस्तर का चुनाव एक बड़ी समस्या हैं |
  • देर रात को सोने के कारण सुबह सूर्य निकलने के बाद देर से उठना भी एक प्रमुख कारण हैं |
  • व्यस्त दिनचर्या एवं काम के कारण व्यायाम या योगा के लिए समय न निकाल पाना भी नींद ना आने का एक प्रमुख कारण हैं |
  • अगर हम बात करे अपने खान – पान या भोजन की तो इसका प्रभाव हमारे नींद पर काफी मात्रा में पड़ता हैं |
  • अपने बेडरूम को सही तरीके से व्यवस्थित न करने भी नींद नहीं आती हैं |
  • अपने आप को नेचुरल लाईट या सूर्य के प्रकाश से दूर रखना या अत्यधिक कृत्रिम प्रकाश का प्रयोग करना भी नींद ना के कारणों में से एक हैं |

read also : सन्स्क्रीन : आपके त्वचा को धूप की पराबैंगनी किरणों से बचाए

read also : अधूरे सपनों के फूल खिलाऊँगा

नींद न पूरी होने के दुष्परिणाम

देखा जाए तो हम सभी में से अधिकांश लोग कम नींद या नींद ना आने के कारणों एवं दुष्परिणाम को ज्यादा महत्त्व नहीं देते या अनदेखी करते हैं | यह हमारी एक बुरी आदत हैं | नींद न आने से क्या दुष्परिणाम होता है , इसके बारे में हम सोचते भी नहीं हैं –

  • अच्छी नींद ना आने से हमारे शरीर की इम्युनिटी ( रोग को रोकने की क्षमता ) प्रभावित होती हैं | हमारा शरीर रोग के प्रति संवेदनशील हो जाता हैं , जिससे रोगों के वाहक हमारे शरीर को तुरन्त प्रभावित करते हैं \
  • अगर देखा जाएँ तो डायबिटीज या शुगर के होने का खतरा बढ़ जाता हैं |
  • नींद ना आने से हमारे सोचने की क्षमता एवं मष्तिष्क के केन्द्रण ( Concentration ) में कमी आती हैं |
  • रक्तचाप की समस्या सामने आती हैं | अधिकांश अधिक रक्तचाप ( High Blood Pressure ) की शिकायत सामने आती हैं \
  • हमारा ह्रदय स्वस्थ नहीं रहता है | ह्रदय रोगों का खतरा बढ़ जाता हैं |

अच्छी नींद

  • शरीर के भार में कमी की भी शिकायते सामने आयी हैं |
  • व्यक्ति के स्वभाव में चिडचिड़ापन देखने को मिलता हैं |
  • वाहन चलाते समय एक्सीडेंट्स ( Accidents ) का खतरा बढ़ जाता हैं |
  • हड्डी के जोड़ो में दर्द की शिकायत भी होती हैं |
  • सबसे बड़ी बात हमारी सेक्स क्षमता का प्रभावित होना | फर्टिलिटी का प्रभावित होना एवं सेक्स की इच्छा का कम होना |
  • नींद ना आने पर तनाव बढ़ता हैं | जो अन्य रोग के कारणों को जन्म देती हैं |
  • हमारे स्किन में सिकुड़न ( Wrinkles ) आने लगते हैं , जिससे कम उम्र में हम अधिक उम्र के दिखाई देने लगते हैं |

read more : लखनिया दरी – अहरौरा

read more : जानिए चाय के विभिन्न प्रकार एवं उन्हें बनाने के तरीके

अच्छी नींद के लिए उपाय

  • अच्छी नींद के लिए सबसे पहले आपको एक रूटीन बनाना होगा कि हमें एक निश्चित समय पर सोना और उठना हैं तथा इसका कड़ाई से पालन अनिवार्य हैं |
  • सुबह उठकर अपने नित्यकर्म से खाली होकर कम से कम 30 मिनट व्यायाम करना पर सोने से पहले व्यायाम कतई ना करें |
  • सोने जाने से पहले कम से कम 2 घंटे पहले चाय , काफी जैसे ड्रिंक का सेवन ना करना | इसके अलावा अपने दिनचर्या में भी इन सभी वस्तुओं के प्रयोग की मात्रा को कम करना |
  • सोने से कम से कम एक घंटा पहले टी० वी० , लैपटाप , मोबाइल इत्यादि का प्रयोग ना करना |
  • अगर संभव हो तो सोने से पहले स्नान कर ले , आप अपने आपको तनाव रहित महसूस करेंगे एवं नींद भी अच्छी आयेगीं | यदि स्नान करना संभव ना हो तो सोने से पहले अपने हाथ एवं पैरों को अच्छी तरह साफ़ कर ले तथा सरसों के तेल से पैर के तलवों एवं पैरों की थोड़ी मसाज कर ले |

अच्छी नींद

  • शाम में ज्यादा गरिष्ट या मसालेदार भोजन ना करे |
  • अपने बेडरूम को थोड़ा व्यवस्थित करें | बेडरूम में प्रकाश एवं शुद्ध हवा के लिए खिड़की के साथ रोशनदान होना चाहिए |
  • अपने बेड के गददे एवं मैट्रेस काफी पुराने ना हो , यदि ऐसा हैं तो उन्हें बदल दे |
  • सोने के समय कमरे में प्रकाश की मात्रा काफी कम हो या अँधेरा हो |
  • अपने दिन के भोजन में अलसी , अखरोट , सोयाबीन , सोया , पनीर , पालक , ब्रोकली , टमाटर , मूली आदि पदार्थो की मात्रा को बढाएं | यह अच्छी नींद , स्वास्थ्य के साथ इम्युनिटी को भी बढ़ाएगा |
  • रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध पिए | यह आपके तनाव को कम करता हैं |
  • आपका तकिया ( Pillow ) काफी ऊँचा ना हो | यह मुलायम एवं पतला हो ताकि आपके गर्दन पर दबाव ना पड़े |
  • सोने से पहले एल्कोहाल , सिगरेट इत्यादि का प्रयोग ना करें |
  • बेड पर अपने पालतू जानवर को ना सुलाएं |
  • नींद की गोलियों का प्रयोग ना करे , इसका प्रयोग केवल डाक्टर की सलाह पर ही करे |
  • अगर आपको दिन में सोने की आदत हैं , तो उस पर लगाम लगाए | कोशिश करें दिन में कम से कम सोएं |
  • सोते समय ज्यादा चुस्त या टाईट कपड़े ना पहने , बिलकुल ढीले – ढाले कपड़े पहने |

read more : इतना ना मुस्कुराइए !

read more : ‘चन्द लम्हों की जिन्दगी अपनी’

Leave a Reply

Close Menu