प्रकृति का उपहार – राजदरी व् देवदरी  ( चन्दौली )

प्रकृति का उपहार – राजदरी व् देवदरी ( चन्दौली )

प्रकृति प्रेमियों के लिए राजदरी व् देवदरी जन्नत समान हैं , यहाँ के जैसा सुन्दरतम दृश्य एवं वन – सम्पदा से परिपूर्ण कोई और स्थान नहीं हो सकता हैं | यह स्थान अपने आप में एक अलग स्थान रखता हैं | केवल यह स्थान ही नहीं अपितु यहाँ आने से पहले पड़ने वाले घनघोर जंगल के बीच से गुजरता सड़क जैसे अपनी कहानी कह रहा हो , एक कविता गुनगुना रहा हो , ऐसा मालूम पड़ता हैं |

राजदरी व् देवदरी की स्थिति एवं विशेषताएँ  

राजदरी व् देवदरी जलप्रपात चन्दौली जिले में स्थित हैं | यह बीच जंगल में स्थित एक मनोहारी एवं सुन्दरतम जल – प्रपात हैं | राजदरी व् देवदरी जल – प्रपात काफी बड़े एवं विस्तृत भू – भाग में फैला हैं | प्रकृति प्रेमियों के लिए यहाँ सब कुछ हैं | यहाँ पर जंगली जानवर , विभिन्न प्रकार के जंगली लताएं एवं फूल – पत्ती तथा पक्षियाँ हैं | अगर आप एक बाटेनिष्ट हैं , तो आपको यहाँ पानी में एवं उसके आस – पास कई तरह के शैवाल , ब्रायोफाईटस इत्यादि पौधे मिल जायेंगे |

राजदरी व् देवदरी जल – प्रपात चन्दौली जिले के पहाड़ी पर स्थित हैं | चन्दौली जिले को उत्तर – प्रदेश का धान का कटोरा भी कहा जाता हैं | राजदरी व् देवदरी जल – प्रपात पानी में पत्थर व् चट्टानों से होकर आगे कई फीट गहरी खाई में गिरती हैं , जिसकी आवाज कभी – कभी तो मन में भय पैदा करती हैं , तो कभी – कभी मानों हमारे कानों में मधुर संगीत बजा रही हैं |

  • यह स्थान वन – विभाग के पूर्णत: अधीन हैं | जल – प्रपात स्थल से कई किमी० की दूरी पर ही गाड़ी पार्किंग एवं प्रति व्यक्ति के हिसाब से निर्धारित शुल्क लिया जाता हैं एवं रसीद भी प्रदान की जाती हैं | यह स्थान शाम को 5 बजे बन्द हो जाता हैं |
  • यहाँ पर गाड़ी पार्किंग की व्यवस्था उपलब्ध हैं |
  • यहाँ पर केवल एक ही कैंटीन की सुविधा उपलब्ध हैं , इस कारण यहाँ सामान काफी ऊँचे दर पर मिलते हैं |
  • यहाँ पर पार्क व् गेस्ट हाउस भी हैं | पार्क में झूला , सी सा  इत्यादि मनोरंजन के साधन उपलब्ध हैं , जो यहाँ आये बच्चों के मन को काफी भाते हैं |
  • गिरते हुए झरने को देखने के लिए सामने की ओर से पहाड़ी पर सीढ़ी द्वारा नीचे जाने की व्यवस्था हैं एवं उस पर आपकी सुरक्षा हेतु रेलिंग लगाई गयी हैं | यहाँ से आप झरने का मनोहारी फोटो या सेल्फी ले सकते हैं |
  • यहाँ पर बैठने के लिए गोल चबूतरे पर गोल छतरी वाला टिनसेड भी वन – विभाग की ओर से लगाया गया हैं |
  • नदी या छलका के उस पार जाने के लिए झरने से पहले एक सीमेन्ट का रपटा या पतला पुल भी बनाया गया हैं |

कैसे जाएँ  

यहाँ जाने के लिए बेहतर होगा कि आप अपनी पर्सनल गाड़ी बुक कर ले | यहाँ जाने के लिए वाराणसी – शक्तिनगर मार्ग में पड़ने वाले अहरौरा नामक स्थान से चन्दौली जिले के लिए सीधा रोड ले ले | चन्दौली पहुचकर आप वहाँ किसी से भी पूछ ले , कि हमें राजदरी व् देवदरी जाना हैं , कैसे जाएँ | आपको रास्ता मिल जाएगा |

चन्दौली जाने का दूसरा रास्ता रामनगर बाई – पास स्थित टेंगरा मोड़ से होकर जाता हैं | आप किसी भी रास्ते का चुनाव कर सकते हैं |

राजदरी व् देवदरी  ( चन्दौली )

क्या करें

जैसा कि आप अन्य पिकनिक स्थलों पर करते हैं , यहाँ भी करने को बहुत कुछ हैं | वह आप की अपनी मर्जी पर निर्भर करता हैं | यहाँ की पहाड़ी नदियों में जंगली पौधों का अक्स एवं खनिज – पदार्थो का चूर्ण मिला हुआ हैं अर्थात यहाँ स्नान करने पर आपको एक अजीब सी अनुभूति एवं ताजगी का एहसास होगा | झरने के बीच पत्थर की चट्टान पर बैठकर आप प्रकृति की सुन्दरता को महसूस कर सकते हैं | जब मैं अपने साथियों के साथ वहाँ गया , तो हम  लोगों ने खाना पहले से पैक कर लिया एवं वहाँ पर मेरे साथियों ने काफी देर तक जल में स्नान ही किया , जबकि मैं लगभग एक घंटे तक पानी में सोया रहा | ऐसा लगा मानों मेरी सारी थकान ही मिट गयी |

सावधानियाँ

पहाड़ी झरनों एवं नदियों में अक्सर अचानक पानी बढ़ने का खतरा रहता हैं | जिसे थोड़ी सी सावधनी से दूर किया जा सकता हैं |

  • सबसे पहले झरने या फाल पर नहाते समय लापरवाही ना बरते |
  • पत्थरों पर होने वाले फिसलन का विशेष ध्यान रखें |
  • नशे में धुत होकर फाल के अन्दर प्रवेश ना करे , यह वर्जित हैं |
  • बारिश के समय कोशिश करे  फाल में ना नहाये क्योंकि पानी कभी भी बढ़ सकता हैं |
  • फाल पर मौजूद गहरे कुंड में जाने से बचे , इसमें अच्छे तैराक का भी बाहर निकलना मुश्किल होता हैं |
  • निर्धारित स्थल पर ही भोजन करें |
  • भोजन या पिकनिक उपरान्त उस स्थान को साफ़ करना कतई ना भूले क्योंकि अगर स्वच्छता होगी तभी आप या हम वहाँ जायेंगे अन्यथा नहीं |
  • कपड़े बदलते समय विशेष सावधानी बरते |

 

read also : अच्छी नींद के लाभ – अच्छी नींद कैसे प्राप्त करें

read also : इतना ना मुस्कुराइए !

 

Leave a Reply

Close Menu