क़दमों का रूख

मोड़ लेना , जब दिल के सागर में , तूफ़ान उठने लगे , कश्ती का रूख , किनारों की ओर मोड़ लेना रुख मोड़ लेना

0 Comments

मौसमी सर्दी , खाँसी व् जुकाम – बचाव के घरेलू उपाय

आज के परिवेश में ये आम बात हो गयी हैं , जब भी मौसम बदलता हैं आपको हर कोई यही कहते हुए मिलेगा कि जुकाम हो गया हैं , खाँसी हो गया हैं | पर इसका कारण शायद ही कोई बता पाये , हर व्यक्ति यही कहेगा कि मौसम में बदलाव के कारण सर्दी , खाँसी व् जुकाम हो गया | पर क्या ये सही हैं , अगर देखा जाए तो इनको बुलावा भी हमने ही दिया हैं |

0 Comments

अच्छी नींद के लाभ – अच्छी नींद कैसे प्राप्त करें

आजकल के व्यस्त दिनचर्या के कार्यक्रम एवं भाग - दौड़ के कारण अक्सर नींद ना एक आम बात हो गयी हैं | हममें से अधिकांश लोग इस बात पर ध्यान नहीं देते | पर इससे हमारा ही नुक्सान हैं | वैसे देखा जाएँ तो इसकी वजह भी हम ही  हैं | हम अपने काम एवं जिम्मेदारियों में इतनी खो गए हैं कि हम अपने जीवन की सबसे अमूल्य वस्तु अपने स्वास्थ्य को ही भुल गए हैं | एक अच्छी नींद हमारे शरीर के कई रोगों को दूर करती हैं या रोगों को हमारे पास फटकने भी नहीं देती हैं | आइए हम सबसे पहले नींद न आने के कारणों को देखते हैं , फिर उसके दुष्प्रभाव एवं उसके बाद अच्छी नींद के उपाय को देखते हैं |

0 Comments

सन्स्क्रीन : आपके त्वचा को धूप की पराबैंगनी किरणों से बचाए

सन्स्क्रीन : जरूरी क्यों  चाहे मौसम कोई भी हो हमारे  चेहरे एवं त्वचा की ख़ास देखभाल जरुरी हैं | विशेषकर गर्मी के दिनों में धूप तेज निकलती हैं तथा उसमें पराबैंगनी किरणों की मात्रा भी ज्यादा होती हैं | हम सभी धूप से बचने हेतु कोई न कोई उपाय जरुर करते हैं , कुछ लोग छाता लेकर चलते हैं , कुछ लोग लोग अपने अपने चेहरे को स्टाल या सूती टावल से बाँध लेते हैं जबकि कुछ लोग बिना किसी वस्तु के प्रयोग के धूप में यू ही काम करते हैं या निकलते हैं | आपने अक्सर बाजारों में या अन्य स्थानों पर किसी मजदूर को काम करते हुए देखा होगा , पर क्या आपने धूप के प्रभाव से उसके शरीर पर एवं चेहरे पर पड़ी काली लकीरों या कालेपन को देखा | ये कालापन कुछ और नहीं बल्कि धूप का प्रभाव हैं |अगर हम दूप एवं उसकी पराबैंगनी किरणों से स्वयं की रक्षा नहीं करंगे तो हो सकता हैं हमें पराबैंगनी किरणों से त्वचा कैंसर हो

0 Comments

ये मैनें जाना ना था !

ये मैनें जाना ना था ! My feelings tried to come out from my heart but ............................ भावनाओं का तूफ़ान इस तरह , मेरी ज़िन्दगी में आएगा , ये मैनें जाना ना था  || 1 || तूफानों की इन तेज हवाओं में , इस साहिल पर मैं अकेला रहूँगा , सिर्फ एक तिनके का सहारा होगा ,

0 Comments

तूफाने सफ़र ज़िन्दगी में !

Success always wins with the struggle of life and barriers are broken. this is the moral story of life and it's always true............. तूफाने सफ़र ज़िन्दगी में ! मुश्किलें और भी आएंगी , राहे सफ़र ज़िन्दगी में  | अँधेरा और भी घना होगा , मंजिले तलाश में | कोई साया भी साथ न होगा तेरे ,

0 Comments

गुमनाम शहीद

गुमनाम शहीद भारत माँ के आँचल तले , सो गये ना जाने कितने गुमनाम शहीद || 1 || कितने नाम , कितने चेहरे ,कितने मासूम , कितने वीर थे , गुमनाम शहीद || 2 || जंगल - जंगल , बस्ती - बस्ती ,

0 Comments
  • 1
  • 2
Close Menu