जवानी

जवानी

जब व्यक्ति युवावस्था में आता हैं , तो उसमें शारीरिक बदलाव के साथ – साथ मानसिक बदलाव भी आता हैं | इन सभी परिवर्तनों के बीच वह कई बार भटकता भी हैं , और ठोकर खाकर वापस भी लौट आता हैं | जवानी जब जीवन में कदम रखती हैं तो की चरणों में रखती हैं , बस इन्ही भावनाओं एवं क्रियाओं को मैंने अपने शब्दों में कलमबद्ध किया हैं | मैंने इस कविता को जवानी नाम दिया हैं क्योंकि जवानी के परवान चढ़ते ही व्यक्ति पागल हो उठता हैं , वो किसी भी हद तक जाने या यू कहे वह कुछ भी करने को तैयार हो जाता है |

jawaani comes only once in a life which is very sweet , charming , precious , painfull and smilefull . so never waste jawani and its time . also don’t take any wrong step into your life . take right step ………………………………..

Also read :  मैं भारत , अखण्ड भारत

Also read :  ‘चन्द लम्हों की जिन्दगी अपनी’

जवानी 

कदम बहकने लगे जब राहों में ,

नैंन शर्माने लगे जब आईने में ,

शोखियाँ आने लगे जब बातों में ,

तो समझो जवानी ने चिट्ठी डाली  || 1 ||

हर आहट पर जब नजरे उठने लगे ,

बिना वजह जब मुस्कान नाचने लगे ,

मधुरता छलकने लगे जब बातों में ,

तो समझो जवानी ने डेरा डाला || 2 ||

मचलने लगे दिल जब अंगड़ाई को ,

तनहा होने लगे मन जब अपनों के बीच ,

आठों पहर सताने लगे जब बेचैनी बांहों की ,

तो समझो जवानी ने पाँव पसारा || 3 ||

हर शख्स दिखने लगें जब प्यारा – प्यारा ,

जी ललचाने लगे जब बोलने को ,

सहा ना जाए जब दूरी एक पल की भी ,

तो समझो जवानी ने ली अंगड़ाई || 4 ||

आँखे बन्द होने लगे जब सपनों के लिए ,

साँसे मन को छूने लगे जब खुश्बू के लिए ,

दिल धड़कने लगे जब दीदार के लिए ,

तो समझों जवानी ने आग लगाई || 5 ||

मैं इस कविता का अंतिम पंक्ति बुढ़ापे की अवस्था को समर्पित करता हु , क्योंकि बुढ़ापे की अवस्था का संकेत इस पंक्ति में हैं |  इस अवस्था में व्यक्ति चाहकर भी कुछ नहीं कर सकता | वह बस अपने बचपन एवं जवानी में किए गये कार्यो को याद कर कभी हँसता हैं तो कभी रोता हैं ………

 

चाहकर भी जब मुस्कान ना खिले ,

याद करने पर भी जब कोई याद ना आये ,

वक्त गुजर जायें जब जीवन में बहारों का ,

तो समझो जवानी ने लात लगाई || 6 ||

Also read :  पढ़ना हमें आता हैं !

Also read :  जानिए चाय के विभिन्न प्रकार एवं उन्हें बनाने के तरीके

 

सपन कुमार सिंह , 21 / 12 / 2017 , शुक्रवार 

Leave a Reply

Close Menu